हमारे कार्यक्रम

शिक्षा

शिक्षा

बस्तर के पांच पंचायत के बीस गंाव में बच्चों को खेल खेल के माध्यम से उन्हें अक्षर ज्ञान प्रदान करते है। बालिका षिक्षा केा बढावा देने के लिए बालिकाओंको पूुनः स्कूलसे जोडने के साथसाथ उनहे कईअन्य कार्यक्रमों के साथ जोडते हैजैसे - स्थानिय कल्चर ,गीत संगीत व नित्य के माध्यम से उन्हे स्कूल जाने के लिए प्रेरित करते है। जिसका अच्छा परिणाम आया । इस षिक्षा के माध्यम लगभग 300 बालिकाओं को प्राथमिक स्कूल से जोडा गया । 15 से अधिक अधिकबालिका कालेज स्तर में अध्ययन कर रही है जो बस्तर जैसे सुदूर आदिवासी अंचल के लिए एक बहुत बडी उपलब्धि है।

स्वास्थ्य test

आसरा मंच गर्भवती माताओं को सूरक्षित प्रसव कराने के लिए बढावा देने का कार्य कर रही है। गांव की महिलाओं को स्वास्थ्य षिक्षा की जानकारी प्रदान करती है ।

बस्तर कला को प्रोत्साहन देना

बस्तर कला को प्रोत्साहन देना

बस्तर के आदिवासी कला देष मेे ही वरन विष्व में यहां कला की एक पहचान है । यहां के निवासी बांस कला में पारंगत है । वर्तमान में यह कला सही माकेर्टिग के अभाव में विलुप्त हो रहा है जिसे सजोन के लिए उन्हें प्रषिक्षण के साथ- साथ माकेर्टिग प्लेस व अंर्तराटिय स्थान दिलाने का प्रयास कर रही है ।

महिला हिंसा के खिलाफ आवाज

संस्था महिलाओं के खिलाफ होन वाले घरेलू हिंसा को रोकने गांव की महिलाओं को जागरूक कियाजा रहा है। संस्था द्वारा 31 पीडित महिलाओं को उनका अधिकार दिलाया गया है व उन्हे न्याय दिलाया गया है।

महिला हिंसा के खिलाफ आवाज

सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपए पेश करने का भी फैसला किया है।

सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपए पेश करने का भी फैसला किया है। सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपए पेश करने का भी फैसला किया है। सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपए पेश करने का भी फैसला किया है। मुख्य मकबरा देखने के लिए 200 रुपये का शुल्क देने का भी फैसला किया गया है। सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपये का शुल्क देने का भी फैसला किया है। सरकार ने भी मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपये का शुल्क देने का फैसला किया है। मुख्य मकबरा देखने के लिए 200 रुपये का शुल्क देने का फैसला किया। सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपये का शुल्क देने का भी फैसला किया है।

सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपए पेश करने का भी फैसला किया है।

अब तक, मुख्य मकबरे में प्रवेश के लिए कोई अलग शुल्क नहीं है। संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने कीमतों में वृद्धि की घोषणा की और कहा कि नए टिकट केवल तीन घंटे तक वैध होंगे। "हमें आने वाले पीढ़ियों के लिए ताजमहल को संरक्षित करने की आवश्यकता है; नए 'बारकोड' टिकटों को पहले 40 रुपये से 50 रुपये खर्च होंगे और यह केवल तीन घंटे के लिए वैध होगा, "महेश शर्मा ने कहा। उत्तर प्रदेश सरकार ने ताजमहल की यात्रा के लिए टिकट की कीमत में इजाफा किया है। सरकार ने मुख्य मकबरे को देखने के लिए 200 रुपए पेश करने का भी फैसला किया है। अब तक, मुख्य मकबरे में प्रवेश के लिए कोई अलग शुल्क नहीं है। संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री महेश शर्मा ने कीमतों में वृद्धि की घोषणा की और कहा कि नए टिकट केवल तीन घंटे तक http://order-cheap-cialis.net/ वैध होंगे।

Supported By:

European Union

Concieved By:

Designed By: